फेक न्यूज: सोशल मीडिया कंपनी हेड्स के खिलाफ आपराधिक मामलों में कार्रवाई का सुझाव

Shona Rajoria Posted into Buzz 31 views
September 30, 2018
फेक न्यूज: सोशल मीडिया कंपनी हेड्स के खिलाफ आपराधिक मामलों में कार्रवाई का सुझाव
नई दिल्ली भारत में बड़ी ग्लोबल इंटरनेट और सोशल मीडिया कंपनियों के प्रमुखों को फेक न्यूज फैलाने के मामले में आपराधिक कार्रवाई का सामना करना पड़ सकता है। उन्हें इस आधार पर आरोपी बनाया जा सकता है कि उनके प्लैटफॉर्म्स की मदद से फेक न्यूज फैली और कई घृणित अभियान चलाए गए। लिंचिंग और कई दंगों के पीछे भी ऐसे प्लैटफॉर्म्स की भूमिका सामने आई है। माना जा रहा है कि एक शीर्ष सरकारी समिति ने इसकी मांग की है। गृह सचिव राजीव गाबा की अध्यक्षता वाली इस अंतर-मंत्रालयी समिति ने अपनी रिपोर्ट गृहमंत्री राजनाथ सिंह को सौंपी है। समिति में शामिल मंत्रिमंडल के अन्य सदस्यों ने अलग-अलग राज्यों में सामने आए लिंचिंग के मामलों में जांच के दौरान इंटरनेट प्लैटफॉर्म्स की भूमिका को महत्वपूर्ण पाया है। समिति से जुड़े सूत्रों के मुताबिक, सदस्य उन सभी आवश्यक विकल्पों पर विचार कर रहे थे जिन्हें सोशल मीडिया पर फेक न्यूज फैलने से रोकने के लिए इस्तेमाल किया जा सके। जिससे सोशल मीडिया व इंटरनेट प्लैटफॉर्म्स की मदद से ऐसी अफवाहें व फेक न्यूज फैलकर सामाजिक तनाव की स्थिति पैदा न कर सकें। फिलहाल कहा जा रहा है कि आपराधिक कार्रवाई वाला बिंदु भी समिति के सुझावों में से एक है और इसपर अंतिम निर्णय अभी नहीं लिया गया है। इसपर आखिरी फैसला मंत्रिमंडल द्वारा लिया जाएगा, जो अपनी फाइनल रिपोर्ट पीएम नरेंद्र मोदी को सौंपेगा। कानून व आईटी मंत्री रवि शंकर प्रसाद फेक मेसेजे को लेकर पहले ही कंपनियों पर कड़ी कार्रवाई की बात कर चुके हैं। समिति की रिपोर्ट पर अलग-अलग क्षेत्रों के एक्सपर्ट्स की राय भी ली गई, जिसमें पाया गया है कि सोशल मीडिया कंपनियों और वॉट्सऐप जेसी इंस्टैंट मेसेंजर कपनियों को फेक न्यूज व अफवाहों को ट्रेस करने और रोकने की जिम्मेदारी लेनी होगी। उनकी मदद से फैलने वाली सूचना से लिंचिंग और दंगे जैसी स्थिति में वे कंपनियां भी जिम्मेदार मानी जाएंगी। अब तक जुर्माना लगाने की व्यवस्था बता दें, इससे पहले जस्टिस बीएन श्रीकृष्ण की अध्यक्षता में बनी कमिटी ने डेटा प्रोटेक्शन को लेकर कंपनियों पर कार्रवाई की बात की थी। इसके ड्राफ्ट बिल में डेटा प्रॉटेक्शन लॉ उल्लंघन करनेवाली कंपनियों पर 15 करोड़ रुपये से लेकर उनके दुनियाभर के कारोबार के कुल टर्नओवर का 4% तक का जुर्माना लगाने का सुझाव दिया गया था। साथ ही ड्राफ्ट बिल में पांच साल जेल की सजा और कंपनी पर आपराधिक मामला चलाने का सुझाव भी शामिल था। अब आपराधिक कार्रवाई है जरूरी हाल ही में इसे लेकर जस्टिस श्रीकृष्ण ने कहा था, \'हर कानून में सजा का प्रावधान होता है और यह उन लोगों में डर पैदा करता है जो जानबूझकर या लापरवाही के चलते गलत काम करते हैं।\' उन्होंने कहा था कि आपराधिक दंड के बजाय दीवानी देनदारी का विकल्प रखने से कानून का असर खत्म हो जाएगा क्योंकि बड़ी कंपनियां केवल जुर्माना भरकर आसानी से निकल जाएंगी। कंपनियों के पास नहीं कोई मजबूत सिस्टम फेसबुक, वॉट्सऐप, गूगल और ट्विटर जैसे सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म्स और कंपनियां सरकार को कई बार इन अफवाहों पर काबू पाने की व्यवस्था करने का भरोसा दे चुकी हैं। हालांकि कोई भी कंपनी फेक न्यूज और अफवाहों को रोकने की किसी मजबूत व्यवस्था के साथ सामने नहीं आ पाई है। हाल ही में आई रिपोर्ट्स में पता चला है कि वॉट्सऐप की मदद से कई नफरत फैलाने वाले अभियान चलाए गए, जिनका परिणाम मॉब लिचिंग के रूप में देखने को मिला है। पाइए भारत समाचार(India News In Hindi)सबसे पहले ज़ोरुक.कॉम पर। ज़ोरुक.कॉम से हिंदी समाचार (Hindi News) अपने मोबाइल पर पाने के लिए रजिस्टर करें Zoruk.com पर और रहें हर खबर से अपडेट। src="https://navbharattimes.indiatimes.com/india/india-heads-of-social-media-giants-may-face-criminal-charges-over-fake-news/articleshow/65630810.cms"
{a comments.length a} Comments
फेक न्यूज: सोशल मीडिया कंपनी हेड्स के खिलाफ आपराधिक...
Recommended Post
Related Post
Difference Between Social Media and Social Networking ( 1019 Views) Disha Patani: Latest Trending Instagram Pics ( 786 Views) Five Ways to fix PUBG Lag ( 456 Views) Bollywood Hollywood Tollywood Movies At One Place ( 393 Views) Meet the new co-host in Family Time With Kapil ( 295 Views) केरल ने बाढ़ के लिए तमिलनाडु को ठहराया जिम्मेदार, मुल्लापेरियार बांध से अचानक पानी छोड़ने को बताया प ( 274 Views) Rahul Gandhi is my captain, he sent me to Pakistan: Sidhu ( 264 Views) GQ India Style Awards 2018: List of all the award winners, GQ Legend Akshay Kumar ( 207 Views) Hiring Front-End Developer ( 200 Views) 15 Unseen Photos of Alia Bhatt before coming to the movies ( 187 Views)
Please Login to react !!!